July 23, 2024

News Solid

सच की हद तक

हजरत उमर फारूकी आजम रज़ी अल्लाह तला अन्हू की शहादत की याद इस्लामी नववर्ष शुरू,।

शाहिद अंसारी संवाददाता 9811333450
Share This News

इस्लामी नववर्ष शुरू, हजरत उमर की शहादत की याद।

बरेली के बहेड़ी में टीटीएस कमेटी बहेड़ी की टीम द्वारा बहेड़ी नगर की बाजार वाली मस्जिद में  मुहर्रम का चांद नजर आते ही इस्लामी नववर्ष 1446 शुरु होने के मौके पर बहेड़ी नगर के मोहल्ला बाजार में स्थित मस्जिद बाजार वाली में टीटीएस कमेटी के सभी सदस्य द्वारा विशेष दुआ कराई गई। इस दौरान इस्लाम धर्म के दूसरे खलीफा अमीरूल मोमिनिन उमर फारूक ऐ आज़म को भी याद किया गया। काबिलेजिक्र है कि एक मुहर्रम के दिन ही हजरत उमर फारूक शहीद हुए थे। इस मौके पर कारी अतीक रज़ा इमाम साहब बाजार वाली मस्जिद ने कहा कि हमारी दुआ है कि इस्लामी नववर्ष दुनिया भर के लिए अमन-भाईचारे वाला रहे। उन्होंने मुसलमानों के दूसरे खलीफा हजरत उमर फारूक रजी अल्लाह की जीवन पर रोशनी डालते हुए कहा कि विश्व भर में आज भी उमर-ए-फारूक का इंसाफ मिसाल है। फारूकी दौर में ही दुनिया भर के इंसानों के लिए अहम फैसले किए गए, जिससे इंसानियत का सिर बुलंद हुआ और मौलाना इसराइल ने कहा कि हजरत उमर फारूक की जीवन हम सब के लिए प्रेरणा का स्त्रोत है। फारूकी दौर दुनिया में आज भी याद किया जाता है। उन्होंने कहा कि मुहर्रम का चांद नजर आते ही इस्लामी नव वर्ष का आगाज हो गया है।

आने वाली 10 तारीख को यौम-ए-आशूरा का दिन मनाया जाएगा। आशूरा का दिन इस्लाम में बहुत अहमियत रखता है इसी दिन प्यारे नबी हजरत मुहम्मद सल्ललाहु अलैहीवसल्लम के नवासे हजरत इमाम हुसैन रजीअल्लाह अनहु ने मैदान-ए-करबला में सच्चाई का परचम बुलंद करते हुए शहादत हुई थी इस दौरान कुल शरीफ में टीटीएस कमेटी के मेंबर,मोहम्माद आरिफ एडवोकेट ,आजम रज़ा ,राहत अली, आबिद रज़ा, तस्लीम चौधरी ठेकेदार फिरोज रज़ा, अयान शमसी, मुदीफ रज़ा, कासिम, इरशाद अहमद , सुब्हान रज़ा मौजूद रहे। यह टीडीएस कमेटी हुजूर साहिब ए सज्जादा दरगाह ए आला हज़रत मुफ्ती अहसान रज़ा खान बरेली शरीफ की सरपरस्ती में दीनी व सामाजिक काम करती है।


Share This News