May 26, 2024

News Solid

सच की हद तक

काशीपुर 7 अक्टूबर को पुलिस की सतर्कता के चलते आज एक व्यक्ति की मोब्लिंचिंग जेसी घटना होते होते रह गई

रिपोर्टर अरबाज़ खान
Share This News

पुलिस की सतर्कता के चलते आज एक व्यक्ति की मोब्लिंचिंग जेसी घटना होते होते रह गई क्योंकि पुलिस ने सतर्कता दिखाते हुए व्यक्ति की जान बचाने में सफल हो गई।अन्यथा पुलिस अगर थोड़ी देर कर देती तो व्यक्ति को भीड मौत के घाट उतार देती। अपने हरियाणा और अन्य प्रदेशों में मोबलिंचिंग जैसी घटनाओं के बारे में सुना और देखा होगा परंतु आज काशीपुर में भी मोबलिंचिंग की घटना होते-होते रह गई क्योंकि सूचना पर कोतवाली पुलिस ने सतर्कता दिखाते हुए मौके पर पहुंचकर व्यक्ति को भीड़ के चंगुल से छुड़ाकर कोतवाली भेज दिया।

बता दें कि ठाकुरद्वारा के मोहल्ला फ़तेहुल्लाह गंज निवासी नईम अहमद पुत्र सादिक हुसैन अपनी पिकअप गाडी में दो गाय लेकर गुरुद्वारा रोड से ठाकुरद्वारा के लिए जा रहा था की कुछ बजरंग दल के सदस्यों ने पिकअप को रोकने का प्रयास किया तो उपरोक्त पिकअप के चालक ने पिकअप को और तेजी से दौड़ना शुरू कर दिया इसके बाद बजरंग दल के सदस्यों ने अपनी बाकी टीम के सदस्यों को फोन पर घटना की जानकारी दी और पिकअप गाड़ी का पीछा करना शुरू कर दिया। पिकअप गाड़ी का पीछा करते-करते बैल जोड़ी से मंडी चौकी और ढेला पुल पार करके पिकअप को वह आकांक्षा मार्बल की तरफ मोड़ रहा था।

तभी उसे घेर कर पकड़ने की कोशिश की तो वह गाड़ी को छोड़कर भागने लगा। इस दौरान बजरंग दल के सदस्यों ने उसे पड़कर उसकी जमकर धुनाई लगा डाली इस दौरान कोतवाली से एक पुलिसकर्मी गस्ट कर रहा था वह मौके पर पहुंच गया। जिसने उसे बचाने का प्रयास किया परंतु लोग नहीं माने और पुलिसकर्मी के सामने ही उसे पीटते रहे एक अकेला पुलिसकर्मी कितने लोगों से उसे बचा पाता फिर भी पुलिस कर्मचारी ने पिकअप गाड़ी के चालक की जान बचाने के लिए पास में ही स्थित आयुष्मान हॉस्पिटल के अंदर ले जाकर आयुष्मान अस्पताल का गेट लगाकर उसके अंदर बंद करके गेट के बाहर पुलिसकर्मी खड़ा हो गया।

मजबूर होकर पुलिस कर्मी ने कोतवाली पुलिस को सूचना दी जिसके बाद पुलिस ने सतर्कता दिखाते हुए मौके पर पहुंच कर पिकअप के चालक को पुलिस जीप में बैठ रही थी इस दौरान फिर बजरंग दल के सदस्यों ने आरोपी को पुलिस से छीनने की कोशिश करने लगे। पुलिस ने वह मुश्किल पिकअप के चालक को बचाकर कोतवाली लाकर उसे प्राथमिक उपचार के लिए अस्पताल ले गई। नईम अहमद ने बताया कि वह सोना फॉर्म से गाड़ी में 2 गाय लेकर ठाकुरद्वारा जा रहा था। की कुछ बजरंग दल के लोगों ने उसे रोककर उसके साथ मारपीट करने लगे जिसकी वजह से वह डर गया और गाड़ी लेकर भागने लगा था।पिकअप चालक के शरीर तथा सिर में गंभीर चोटे लगी हुई।अब सवाल उठता है कि क्या आम आदमी को किसी को किसी अपराध में पकड़ कर पीटने का अधिकार है। अगर कोई अपराध कर रहा है तो उसके लिए पुलिस थाने हैं पुलिस को सूचना दें पुलिस से करवाई कराए पुलिस सूचना पर कार्यवाही करती है। काशीपुर के अंदर इस प्रकार की दबंगई का पहला प्रकरण सामने आया है। पुलिस को सूचना देने की बजाय खुद ही उसे सजा दे रहे थे। इससे पहले ऐसी कई घटनाएं हरियाणा प्रदेश में सुनने को मिलती रही हैं परंतु उत्तराखंड में यह पहला प्रकरण सामने आया है।अब देखने वाली बात यह होगी कि पुलिस इस प्रकरण में क्या कार्यवाही करती है। वरिष्ठ उप निरीक्षक प्रदीप मिश्रा ने बताया कि इस मामले में कानूनी कार्रवाई की जा रही है पिकअप चालक के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जा रहा है। तो वही तहरीर के आधार पर मारपीट करने वालों के खिलाफ भी सख्त कार्यवाही की जाएगी।


Share This News