February 28, 2024

News Solid

सच की हद तक

पोस्टमार्टम को आई महिला की डेड बॉडी से आंखे गायब….

Share This News

वैसे तो डॉक्टर को धरती का भगवान कहा जाता है और वे किसी की जिंदगी बचाने को अपनी जान खतरे में भी डाल देते हैं।कोरोना की विभीषिका में मरीजों को बचाने की जद्दोजहद में डॉक्टरों को मरीज को मुंह से आक्सीजन तक देते देखा।पूरे देश ने उन डॉक्टरों को सर आंखों पर बैठाया।लेकिन बदायूं में जो कुछ हो रहा है वह किसी शैतानी करतूत से कम नहीं है।यहां पोस्टमार्टम को लाई गई नव विवाहिता के शव से आंखे ही गायब मिलीं। परिजनों ने पोस्टमार्टम करने वाले स्टाफ पर मानव अंगो की तस्करी करने के लिए आंखे निकाल लेने का आरोप लगाया है।


मामला जिले के पोस्टमार्टम हाउस का है।यहां अलापुर थाना इलाके के कुतरई निवासी गंगा चरण की 20 साल की बेटी पूजा की शादी मुजरिया थाना इलाके के रसूला में हुई थी।रविवार को उसकी दहेज के लिए हत्या कर दी गई।आज पूजा के परिजन उसके शव को पोस्टमॉर्टम के लिए ले गए थे।पुलिस की मौजूदगी में शव भेजा गया।पोस्टमार्टम के बाद शव को काले बैग में रख कर परिजनों को दे दिया गया।जब परिजनों ने देखा तो उसकी आंखे गायब थीं।आक्रोशित परिजन पोस्टमॉर्टम करने वाले डॉक्टरों पर आंखे निकालने का आरोप लगा रहे हैं।उनका कहना है कि जब डेड बॉडी पोस्टमार्टम के लिए लाई गई थी तब उसकी दोनो आंखे थीं मगर पोस्टमार्टम करते समय आंखे निकाल ली गई हैं।आक्रोशित परिजन कार्यवाही की मांग को लेकर जिलाधिकारी के आवास पर पहुंचे हैं और शव का अंतिम संस्कार नहीं किया है।


बाइट – कालीचरण,मृतिका का चाचा


बदायूं जिले में यह पहला मामला नहीं है।इसी तरह का मामला राजकीय मेडिकल कॉलेज में सामने आया था।तब भी एक मरीज के आईसीयू में चूहे ने अंग खा लिए थे।इसके बाद एक और मामला सामने आया था तब जिला अस्पताल की मोर्चरी में शव से आंखे गायब थी।अस्पताल स्टाफ ने तब भी सारा आरोप चूहे के सर मढ दिया था।सफाई दी गई थी कि मोर्चरी में चूहा घुस गया होगा और आंखों को खा गया।इस बार भी शव से आंखे गायब होना डॉक्टरों को सवालों के घेरे में खड़ा करता है और मानव अंगो की तस्करी की तरफ बड़ा इशारा है।


Share This News